First day of School(पहला दिन स्कूल का)

पहला दिन स्कूल का आज भी याद आता है

First day of school

पहला दिन स्कूल का आज भी याद आता है,

छोटे छोटे बच्चों को देखकर अपना बचपन याद आता हे।

कितने खुश  थे  हम  सब  एक  दूसरे को देख कर,

नए-नए दोस्त  बनेंगे  ये  सोच कर।

लेकिन हम से भी जयादा कोई और खुश था,

जैसे ये हमारा नहीं उनका पहला दिन था ।

कोई और नहीं वो हमारे मम्मी पापा थे,

जो हममे अपना बचपन देखते थे।

first day of school

कार्टून वाले बैग, बोतल, पेन्सिल और कॉपी ,

नए-नए जूते, कपडे और टाई।

जिन्हे पहन के हम ख़ुशी से फूले नहीं समाये थे,

हमारे लिए नयी-नयी चीज़े लाये थे।

आज फिर वो दिन लौट के आया है,

जैसे उनका बचपन बच्चों की शक्ल ले कर आया है।

जी करता है उनका की वो हमे देखते रहें

देख देख कर अपने  बचपन में डूबते रहे।

वो भी क्या दिन थे ख्यालो में खो जाते थे,

कोई मजाक भी करता था तो रो जाते थे।

हर चीज़ के लिए जिद किया करते थे,

मना करते हुए माँ पापा को मना लिया करते थे।

बड़ो को देखकर लगता था कब बड़े होंगे

छू कर आसमान अपने पैरो पर खड़े होंगे।

पहला दिन स्कूल का आज भी याद आता है,

छोटे छोटे बच्चों को देखकर अपना बचपन याद आता हे।






Related Posts:

896total visits,2visits today

1 thought on “First day of School(पहला दिन स्कूल का)”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *